आदरणीय शाहबुद्दीन – शिशिर मधुकर

न्याय सत्ता प्रशासन जब किसी के अधीन हो गया
समझो वो शख्स तो आदरणीय शाहबुद्दीन हो गया
ग्यारह वर्षों की कैद का उन पर असर ना था कोई
ऐसे योगी से बिछड़ के जेल की हर चौखट भी रोई
आज के युग के वही तो महाराणा और शिवाजी हैं
जिसके संग हो जाए खड़े जीती उसने हर बाजी हैं

शिशिर मधुकर

15 Comments

  1. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 15/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/09/2016
  2. शीतलेश थुल शीतलेश थुल 15/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/09/2016
  3. Kajalsoni 15/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/09/2016
  4. mani mani 15/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/09/2016
  5. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 15/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/09/2016
  6. babucm babucm 15/09/2016

Leave a Reply