हमे भी है याद


धीमी धीमी सी बारिश में,
वो भीग जाना तेरा
छोटी सी एक ख्वाईश में,
वो करीब आना तेरा
हमे भी है याद, आज तक वो
शर्मा कर नजरें  झुकाना तेरा

शाम की पीली चादर में,
वो खिल जाना तेरा
मेरे ईन ख़्वाबों में,
वो आकर मिल जाना तेरा
हमे भी है याद, आज तक वो
बेवजह मुस्कुराना तेरा

हर मेरी उन बातों में,
वो खो जाना तेरा
प्यारे से उन पलों में,
मेरा हो जाना तेरा
हमे भी है याद, आज तक वो
बाहों में मेरे सो जाना तेरा

छूकर मेरे मन को,
वो उड़ जाना तेरा
यादों से मेरी,
यूँ जुड़ जाना तेरा
हमे भी है याद, आज तक वो
हसीन पल संग बिताना तेरा !!!

राहुल
@kumarrahulblog


 

4 Comments

  1. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 10/09/2016
  2. Kajalsoni 12/09/2016

Leave a Reply