शब्‍द

*****************************************************
शब्‍दों में छुपा रहता अमृत सा ज्ञान है।
उत्कर्ष शब्‍दों से ही लेखनी का मान है।
सरल भाव रचना में लाते निखार तो,
शब्‍दों के संगम से व्‍यक्‍ति गुण वान है।
अभिषेक शर्मा अभि

*****************************************************

ff (2)

7 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 07/09/2016
  2. babucm C.m sharma(babbu) 07/09/2016
  3. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 07/09/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 08/09/2016
  5. शीतलेश थुल शीतलेश थुल 08/09/2016
  6. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 08/09/2016

Leave a Reply