AAP का असली चेहरा

AAP का असली चेहरा —-

काम की ना धाम की है सिर्फ़ नाम आम की है
रोज़-रोज़ आती है खबर नये आलाप की
कोई सजा भुगते हत्याओं की, प्रताड़ना की
कोई तो भुगत रहा सीडी वाले पाप की
यही सबका है चाव, पार हो जाएगी नाव
हाथों में लेके मालाएं मोदी-मोदी जाप की
अन्ना के आंदोलनो की कोख से पैदा हुई है
लोकपाल नहीँ लोकजाल नीति ‘आप’ की

कवि देवेन्द्र प्रताप सिंह “आग”
9675426080
?????

3 Comments

  1. mani mani 06/09/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 06/09/2016
  3. कवि देवेन्द्र प्रताप सिंह "आग" कवि देवेन्द्र प्रताप सिंह "आग" 06/09/2016

Leave a Reply