बेटी की आवाज – कन्या भ्रूण हत्या ( विवेक बिजनोरी)

क्यूँ किया हाँ किया तूने ऐसा मेरे साथ है,
मुझको दिया क्यों दिया तूने ऐसा अभिशाप हैं
जीने से पहले मुझको मिटाया, हैरत की बात है…

क्यूँ किया हाँ किया तूने ऐसा मेरे साथ है,
मुझको दिया क्यों दिया तूने ऐसा अभिशाप हैं

मैंने माँगा क्या था बस प्यार हे तो तेरा,
तूने मुझको दिया अंधेरो भरा रास्ता….
जिसका नहीं कोई सवेरा ऐसी ये रात है…
हाँ जिसका नहीं कोई सवेरा ऐसी ये रात है

क्यूँ किया हाँ किया तूने ऐसा मेरे साथ है,
मुझको दिया क्यों दिया तूने ऐसा अभिशाप हैं

काश मैं अगर दुनिया में आ जाती,
शायद प्यार तेरा थोड़ा सा तो मैं पाती..
प्यार की थी कमी या फिर, मेरी किस्मत की बात है….
प्यार की थी कमी या फिर, मेरी किस्मत की बात है

क्यूँ किया हाँ किया तूने ऐसा मेरे साथ है,
मुझको दिया क्यों दिया तूने ऐसा अभिशाप हैं

विवेक कुमार शर्मा

5 Comments

  1. mani mani 06/09/2016
  2. Vivek Sharma vivekinfotrend 06/09/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 06/09/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 06/09/2016
    • Vivek Sharma vivekinfotrend 06/09/2016

Leave a Reply