मेरा भारत तरक्की कर रहा है-शिशिर मधुकर

मेरा भारत तरक्की कर रहा है और इक्कीसवीं सदी की बातें कर रहा है
विश्व का जन मानस भी अब इसकी शक्ति का पूरा एहसास कर रहा है

अपने रामलाल का बेटा भी अब शहर का बड़ा अफसर यहाँ बन जाता है
औरों के जैसे ही वो अब कई कोठी बंगले और फार्म हाउस भी बनाता है
जब से वो यहाँ आया उसकी जाति और समाज का हुआ बहुत ही नाम है
ये और बात है कि हर गाँव शहर गंदगी से फैले चिकनगुनिया से परेशान है

क्योंकि

मेरा भारत तरक्की कर रहा है और इक्कीसवीं सदी की बात कर रहा है
विश्व का जन मानस भी अब इसकी शक्ति का पूरा एहसास कर रहा है

जो कल तक डकैती डालते थे अब वो यहाँ के प्रदेशों की बड़ी सरकार है
उनके लोगों को नाली सड़क और पार्क में कब्जे करने के सब अधिकार है
बरसात का पानी सड़को पर बह कर अपनी खुशी का इजहार कर रहा है
और नई बीमारियाँ फैला फैला कर चिकित्सकों की खाली जेबें भर रहा है

क्योंकि

मेरा भारत तरक्की कर रहा है और इक्कीसवीं सदी की बात कर रहा है
विश्व का जन मानस भी अब इसकी शक्ति का पूरा एहसास कर रहा है

यूँ तो अपने इस देश में हम सुई से लेकर हवाई जहाज तक भी बनाते है
दिन भर फिल्मी सितारों क्रिकेट और केजरीवालो के बड़े गीत हम गाते है
पर गंदगी. बेईमानी. आतंक और भाई भतीजावाद से मुक्ति नहीँ पाते है
और शहरों को बस कचरे ट्रेफिक जाम प्रदूषण का एक डब्बा बनाते है

क्योंकि

मेरा भारत तरक्की कर रहा है और इक्कीसवीं सदी की बात कर रहा है
विश्व का जन मानस भी अब इसकी शक्ति का पूरा एहसास कर रहा है

शिशिर मधुकर

10 Comments

  1. Manjusha Manjusha 05/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 05/09/2016
  2. C.M. Sharma C.m sharma(babbu) 05/09/2016
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 05/09/2016
  4. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 05/09/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 06/09/2016
  5. Kajalsoni 06/09/2016
  6. mani mani 06/09/2016
  7. Bharti Das Bharti das 06/09/2016

Leave a Reply