दिल से कर लेना तुम दरकिनारा

जिंदगी मे अगर प्यार होने को है
खुद के सुख चैन को यूँ ही खोने को है
दिल से कर लेना तुम दरकिनारा
वरना टूटेगा ही दिल तुम्हारा
वरना टूटेगा ही दिल तुम्हारा

ये हँसी खेल तो खेलते है सभी
इश्क के नाम पर जीते मरते सभी
पहले आए मज़ा फिर रुलाए सज़ा
तोड़ जाए कोई दिल तुम्हारा
दिल से कर लेना तुम दरकिनारा
दिल से कर लेना तुम दरकिनारा

इश्क के अर्श पर प्यार के फर्श पर
दिल ताड़पते रहे दर्द सहते रहे
जैसे टूटा हुआ कोई सितारा
दिल से कर लेना तुम दरकिनारा
दिल से कर लेना तुम दरकिनारा

“कृष्णा” बदनाम है उसकी ये राय
तुम चले जिस डगर वो है टेढ़ी डगर
जाने क्या होगा हश्र तुम्हारा
दिल से कर लेना तुम दरकिनारा
दिल से कर लेना तुम दरकिनारा

Leave a Reply