भारी है….. -प्रियंका ‘अलका’

आज साँस भारी है
जज्बात भारी है
तेरी कही हर बात
आज बेहिसाब भारी है ।

आज मुझ तक पहुँचती
हवाऐं भारी हैं
किरनों में लिपटी
आशाऐं भारी हैं
मुँह फेर जो तूने
कदमें बढ़ाई
तेरी आहटो की मिटती
हर आवाज भारी है।।

आज ख्वाब भारी है ,
अमिट यादों का
सैलाब भारी है,
बिखरते प्रेम के साथ
हर रात
हर प्रात भारी है,
जाते-जाते तूने
पलट कर भी न देखा,
तेरी बेरूखी
आज बेहिसाब भारी है ।

अलका

19 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 31/08/2016
    • ALKA ALKA 01/09/2016
  2. Swati naithani Swati 31/08/2016
    • ALKA ALKA 01/09/2016
  3. MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 01/09/2016
    • ALKA ALKA 01/09/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 01/09/2016
    • ALKA ALKA 01/09/2016
  5. kiran kapur gulati Kiran Kapur Gulatit 01/09/2016
    • ALKA ALKA 01/09/2016
  6. babucm babucm 01/09/2016
    • ALKA ALKA 01/09/2016
  7. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 01/09/2016
    • ALKA ALKA 01/09/2016
    • ALKA ALKA 01/09/2016
  8. mani mani 01/09/2016
    • ALKA ALKA 01/09/2016
  9. Meena Bhardwaj Meena bhardwaj 02/09/2016

Leave a Reply