रूहानी लगे——-डी. के. निवातियाँ

 

ruhani

तेरे गाँव की गलियां बड़ी रूहानी लगे
मिटटी से निकली सुगंध सुहानी लगे
चुरा लूँ कुछ लम्हे अगर बुरा न मानो
मुझे इनमे कृष्ण राधा की कहानी लगे !!
!
!
!
डी. के. निवातियाँ _____@@@

28 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 09/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 09/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 09/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 09/09/2016
  2. Meena Bhardwaj Meena bhardwaj 09/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 09/09/2016
  3. डॉ. विवेक Dr. Vivek Kumar 09/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 09/09/2016
  4. डॉ. विवेक Dr. Vivek Kumar 09/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 09/09/2016
  5. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 10/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 10/09/2016
  6. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 10/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 10/09/2016
  7. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 10/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 10/09/2016
  8. babucm C.m sharma(babbu) 10/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 10/09/2016
  9. mani mani 10/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 10/09/2016
  10. Kajalsoni 12/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 13/09/2016
  11. shakuntala tarar 17/09/2016
  12. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 17/09/2016
  13. deepak kumar 17/09/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 17/09/2016

Leave a Reply