..टीस..

Sheettees
मशाले जला, चला जा रहा है कोई,
कोई मुझसे भी तो पूछे, कहा जा रहा है कोई ?
पीछे छोड़ता गहरा अँधियारा, चला जा रहा है कोई,
कोई मुझसे भी तो पूछे, कहा जा रहा है कोई ?
होंठो को सीकर अपने , आँखों में पट्टी बांधे, गुमनाम हो रहा कोई,
कोई मुझसे भी तो पूछे, क्यों वजूद खो रहा है कोई ?
बन्दुक की नोक पे बैठे, आतंक का कफ़न ओढ़े, क़त्ल कर रहा कोई,
कोई मुझसे भी तो पूछे, क्या कर रहा है कोई ?
नीम से भी कड़वा, गुड से भी मीठा है कोई,
यही बात पचा ना पा रहा कोई,
कोई मुझसे भी तो पूछे, कौन सा इन्तकाम ले रहा है कोई ?
चढ़ा कर सूली पर उसको (सच्चाई), नोटों से चितायें जला रहा है कोई,
कोई मुझसे भी तो पूछे, किसे जला रहा है कोई ?
भस्म हो गया वो लालच की आग में, पाप की राख से अस्थियाँ बिन रहा है कोई,
कोई मुझसे भी तो पूछे, क्या बिन रहा है कोई ?
विसर्जित हो गया झूठ की गंगा में, वो देखो बहता जा रहा है कोई,
कोई मुझसे भी तो पूछे, कहा जा रहा है कोई ?

शीतलेश थुल !!

14 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 30/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 31/08/2016
  2. C.M. Sharma babucm 30/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 31/08/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 30/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 31/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 31/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 31/08/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 30/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 31/08/2016
  5. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 30/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 31/08/2016

Leave a Reply