सबकी अपनी सोच-पियुष राज

सबकी अपनी सोच के

रंग अलग हैं,रूप अलग हैं
अलग हैं सबकी सोच
आपका जीवन कैसा होगा
तय करेगी आपकी सोच

सकारात्मक सोच वालों का
सपना होता हैं साकार
नकारात्मक सोच वालो का
जीवन होता हैं बेकार

अच्छी सोच वाला
सुखी जीवन पाता हैं
बुरी सोच वाला
भीख मांगकर खाता हैं

ऊँची होगी सोच
तो ऊँचा होगा नाम
नीची होगी सोच
तो होंगे बदनाम

पैरों की मोच और छोटी सोच
आपको बढ़ने नहीं देगी
अगर होगी बड़ी सोच
तो वो आपको रूकने नहीं देगी

सोच-सोच का फर्क हैं
कोई अमीर है,कोई गरीब हैं
कोई सुखी हैं,कोई दुखी हैं

सबकी अपनी सोच हैं
सबका अपना विचार हैं
अपनी परिस्थिति का
आप खुद जिम्मेदार हैं |

पियुष राज ,राजकीय पॉलिटेकनिक ,दुधानी ,दुमका |

8 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 17/08/2016
  2. shivdutt 17/08/2016
  3. mani mani 17/08/2016
  4. Kajalsoni 17/08/2016
  5. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 17/08/2016
  6. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 17/08/2016
  7. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 18/08/2016

Leave a Reply