बाढ़ – शिशिर मधुकर

बाढ़ भी तो एक तरह से नदियों का घमंड हैं
दिखाती हैं जब वो वेग उनका बड़ा प्रचंड हैं
ऐसे में कोई उन सब के नज़दीक ना जाता हैं
किनारों को मिलाने के पुल भी ना बनाता हैं
खुद भी अगर वो गाँव घर तक चली जाती हैं
अपनों से कोई सम्मान वो कभी नहीँ पाती हैं

शिशिर मधुकर

12 Comments

  1. Meena Bhardwaj Meena bhardwaj 15/08/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/08/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 15/08/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/08/2016
  3. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 15/08/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/08/2016
  4. mani mani 15/08/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/08/2016
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/08/2016
  5. C.M. Sharma C.m sharma(babbu) 15/08/2016
  6. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 16/08/2016

Leave a Reply