थकान

थकान मेहसूस न होंगी जिन्दगी के सफर की हमराज हमसफर गर साथ है।
आसां होगा मुश्किलो से निकलना गर सब्र और हिम्मत एक साथ है।.
न जमाना खराब होता है यारो न वक्त खाराब होता है। इन्सान की हरकतो से ही उसका नसीब खराब होता है।.
(आशफाक खोपेकर)

3 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 14/08/2016
  2. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/08/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 14/08/2016

Leave a Reply