किससे तुलना करूँ….

हृदय में धड़कन की तरह
धड़कते हो तुम
रिमझिम-रिमझिम
सावन की तरह
बरसते हो तुम ।

हृदय की सौगात में
पुष्पों की तरह
सुगंधित हो तुम ।

और किससे तुलना
करूँ तुम्हारी ,
सितारों के बीच
चाँद की तरह
चमकते हो तुम ।।
– आनन्द कुमार

7 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 13/08/2016
    • आनन्द कुमार ANAND KUMAR 14/08/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 13/08/2016
    • आनन्द कुमार ANAND KUMAR 14/08/2016
  3. sarvajit singh sarvajit singh 14/08/2016
    • आनन्द कुमार ANAND KUMAR 14/08/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/08/2016

Leave a Reply