यही है 15अगस्त””” “” ” “” सविता वर्मा

15 अगस्त आ तो रहा है
धड़कन गुनगुना तो रहा है
आकाश में तिरंगा लहरा तो रहा है
व्यवसाय बन गया तिरंगा
कचरे वाला फटा तिरंगा उठा तो रहा है
बच्चे खुश गुब्बारे मिलेगें
हरे नहीं सफेद ले लेगें
गुब्बारा केसरिया पापा ला तो रहा है
15 अगस्त आ तो रहा है।।
सविता वर्मा

6 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 14/08/2016
  2. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 15/08/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 15/08/2016
  4. mani mani 15/08/2016
  5. C.M. Sharma C.m sharma(babbu) 16/08/2016

Leave a Reply to C.m sharma(babbu) Cancel reply