मरुभूमि और महाराणा(दोहे) ः उत्कर्ष

★★मरुभूमि और महाराणा★★

पंद्रह सौ चालीसवाँ,कुम्भल राजस्थान ।
जन्म हुआ परताप का,जो माटी की शान ।।

माता जीवत कँवर औ,तात उदय था नाम ।
पाकर ऐसे वीर को,धन्य हुआ यह धाम ।।

पन्दरा सौ अड़सठ से,सत्तानवे के बीच ।
अपने ओज प्रताप से,मेवाड़ दिया सींच ।।

हल्दीघाटी युध्द में,चेतक हुए सवार ।
महाराणा प्रताप को,छोड़ा नाले पार ।।

ज्येष्ठ शुक्ला तीसरी,पूजे राजस्थान ।
महाराणा प्रताप का, जन्म विकरमी जान ।।

महाराणा कि वीरता,देख मुगल थे दंग ।
ओजस्वी परताप था,नीले चेतक संग ।।

इब्राहीम लिंकन लिखा,जब वह अपना लेख ।
छाती चौड़ी हो गयी,ओज वीर का देख ।।

लिंकन बोले मात से,में हूँ राजस्थान ।
क्या लाऊ माता बता,धरा गुणों की खान ।।

माता बोली कुछ यूं,सुन लिंकन यह आप ।
वीर धरा वो पावनी,जहाँ हुआ परताप ।।

थोड़ी सी तुम रेत को,लाओ अपने साथ ।
वीर धरा को नमन करुँ,फेर झुका कर माथ ।।

वीर धरा के वीर को,देख युद्ध में वार ।
एक बेर में मार दे,घोडा और सवार ।।

कवच भाला ढाल सभी,हुए पाँच मन पार ।
लाद वजन वो वीर ये ,तब करता था वार ।।

महाराणा कि ओर से,सैनिक बीस हज़ार ।
जा भिड़े सभी फौज से,करे वार पे वार ।।

हल्दी घाटी युध्द में,सैनिक बीस हज़ार ।
हज़ार पिच्यासी लड़े,दिया सभी को मार ।।

_____________________________

ज्येष्ठ शुक्ला तीसरी,जन्मा वीर प्रताप ।
चाँद रूप मुखड़ा लिए,ओज भरा ज्यो ताप ।।

हल्दी घाटी युध्द में,सैनिक बीस हज़ार ।
जा भिड़े सभी फ़ौज से,करे वार पर वार ।।

मातृभूमि के प्रेम में,खायी उसने घास ।
छोड़ दिया घरवार सब,छोड़ा निज आवास ।।

महाराणा के कोप से,अकबर सो नही पाय ।
नींदों में लगता उसे,वीर मार नहि जाय ।।

पांच मन का भार लद,लड़े युध्द वह वीर ।
एक बेर के वार से,सीना देता चीर ।।

वीर धरा का लाल था,सबसे बड़ा था मान ।
शीश झुका सकता नही,वीर वह स्वाभिमान ।।

◆ एक साथ आनंदानुभूति के लिए ◆

✍नवीन श्रोत्रिय “उत्कर्ष”©
+91 84 4008-4006

    एन के उत्कर्ष

    एन के उत्कर्ष

11 Comments

  1. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 07/08/2016
    • नवीन श्रोत्रिय "उत्कर्ष" नवीन श्रोत्रिय उत्कर्ष 11/08/2016
    • नवीन श्रोत्रिय "उत्कर्ष" नवीन श्रोत्रिय उत्कर्ष 11/08/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 07/08/2016
    • नवीन श्रोत्रिय "उत्कर्ष" नवीन श्रोत्रिय उत्कर्ष 11/08/2016
    • नवीन श्रोत्रिय "उत्कर्ष" नवीन श्रोत्रिय उत्कर्ष 11/08/2016
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 07/08/2016
    • नवीन श्रोत्रिय "उत्कर्ष" नवीन श्रोत्रिय उत्कर्ष 11/08/2016
  4. babucm C.m.sharma(babbu) 07/08/2016
  5. नवीन श्रोत्रिय "उत्कर्ष" नवीन श्रोत्रिय उत्कर्ष 11/08/2016

Leave a Reply