मेरा दोस्त

मेरा दोस्त
मेरा दोस्त
“ना समझता उसकी कोई बात ,
ना वो समझा पाता अपनी कोई बात ,
फिर भी मैं समझ जाता टूटी टूटी सी बात ,
क्योंकि वो मेरा दोस्त है। ”

“कोई गिनाता गलतियां उसकी ,
तो कोई कहता बेवकूफ़ी उसकी ,
मेरी नजर में तो नादानी है उसकी ,
क्योंकि वो मेरा दोस्त है। ”

“देर तक बाहर रहे तो आवारा ,
घर से ना निकले तो बेचारा ,
मेरे लिए तो वो हमेशा ही प्यारा ,
क्योंकि वो मेरा दोस्त है। ”

“ढूंढें सभी बुराइयां उसमे ,
अवगुणों से नाता उसमे ,
मेरे लिये तो वो सदगुणों का पिटारा ,
क्योंकि वो मेरा दोस्त है। ”

“सब कहते है उसे ,
वो किसी काम में perfect नहीं ,
पर वो मेरे लिये एकदम perfect है ,
क्योंकि वो मेरा दोस्त है। ”
शीतलेश थुल।!!

16 Comments

  1. mani mani 06/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 07/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 07/08/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 06/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 07/08/2016
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 06/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 07/08/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 06/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 07/08/2016
  5. babucm C.m.sharma(babbu) 06/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 07/08/2016
  6. Kajalsoni 06/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 07/08/2016
  7. यशोदा 07/08/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 07/08/2016

Leave a Reply