छोटा सा सफर

छोटा सा सफर है जिन्दगी का भरोसा नही है कल का ।
मगरुर न बन इन्सां पता भी न चलेंगा तुझे आखिरी पल का ।
तकलीफ मुसीबत फल है इन्सां की बुरी हरकतो का ।
सुकुन चैन की जिन्दगी नतीजा है सब की दुआओं का ।
(आशफाक खोपेकर)

6 Comments

  1. mani mani 02/08/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 02/08/2016
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 02/08/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 03/08/2016
  5. babucm C.m.sharma(babbu) 03/08/2016

Leave a Reply