तेरा इंतज़ार

SheetInt
मैं तुझसे आज इस कदर रूठा हूँ।
आँखे बंद कर हकीकत से मुंह मोड़ बैठा हूँ।
शायद तू आ जाये वापस मुझे मनाने।
सारे गमो से रिश्ता जोड़ बैठा हूँ।
तेरा मेरा एक छोटा सा संसार
बाकि सारी दुनिया का मोह छोड़ बैठा हूँ।
बस तेरे इन्तजार में थम जाये ये लम्हा
वक़्त की घड़ी से सुईंया तोड़ बैठा हूँ।
तेरे लिये सिर्फ तेरे लिये ……..
शीतलेश थुल !!

10 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 29/07/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 01/08/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 29/07/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 01/08/2016
  3. mani mani 29/07/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 01/08/2016
  4. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 29/07/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 01/08/2016
  5. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 30/07/2016
    • शीतलेश थुल शीतलेश थुल 01/08/2016

Leave a Reply