हिरदा का भाव हाथ मैं जानिये

हिरदा का भाव हाथ मैं जानिये
यहु कलि आई षोटी ।
बद्न्त गोरष सुनो रे अवधू
करवे होइ सु निकसै टोटी ।।

Leave a Reply