जिंदगी

जिंदगी बारिश की बूँद बन कर ,
बिखर जाए तो क्या हो?

जिंदगी दूर खड़ी, दुल्हन सी ,
शरमाए तो क्या हो ?

यूँ तो बीच बीच में, स्पीड ब्रेकर से ,
जिंदगी सभी का इम्तेहाँ लेती है.

जिंदगी खुद ही ,तीन सौ साठ के एंगल में ,
पलट जाए तो क्या हो ?

10 Comments

  1. mani mani 28/07/2016
    • Manjusha Manjusha 28/07/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 28/07/2016
    • Manjusha Manjusha 29/07/2016
  3. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 28/07/2016
    • Manjusha Manjusha 29/07/2016
  4. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 28/07/2016
    • Manjusha Manjusha 29/07/2016
  5. Kajalsoni 29/07/2016
    • Manjusha Manjusha 29/07/2016

Leave a Reply