” नेपाल त्रासदी ” दर्द सत्यम श्रीवास्तव के

नेपाल एक ऐसा देश जो, विकास की तरफ अग्रसर हो रहा था, लेकिन कुदरत के कहर ने नेपाल देश को सदियों पीछे कर डाला। ” नेपाल त्रासदी ” पर समर्पित हमारी रचना।

हे खुदा ! तुने यह क्या कर डाला,
खुशहाल शहर को तुने क्यों बदल डाला।
लोगो ने नेपाल को विकास की झोली में डाला,
फिर तुने इसे क्यों एक सदी पीछे ठेल डाला।

ख़ुशी-ख़ुशी चल रही थी जँहा की जिंदगी,
फिर तुने क्यों दिखाई ऐसी दरिंदगी।
एक पल में ले डूबा तुने लाखों की जिंदगी,
अब लोग याद करेंगे तेरी आगो सी दरिंदगी।

क्या कसूर था उस नादान शहर का,
जो गवाह बना तेरे इस शैतान कहर का।
मुसीबत की इस घडी में जिसने पहुचाया है राहत,
क्या कहे उस महान देश को जिसका नाम है भारत।

युवा कवी ” सत्यम श्रीवास्तव ”
नैनी, इलाहाबाद।

10 Comments

  1. रामबली गुप्ता 28/07/2016
  2. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 28/07/2016
  3. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 28/07/2016
  4. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 28/07/2016
  5. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 28/07/2016
  6. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 28/07/2016
  7. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 28/07/2016
  8. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 29/07/2016

Leave a Reply