” चाहत ” सत्यम श्रीवास्तव की

शीर्षक – ” चाहत ”

लोग हजारो चाहते है तुमको ,
बस मेरी भी एक चाहत है।
तुम केवल सिर्फ चाहो मुझको ,
तो मेरे दिल को राहत है।

हमारी ये रचना सुरक्षित है, कृपया मूलरुप से ही शेयर करे।

युवा कवी ” सत्यम श्रीवास्तव ”
इलाहाबाद।

10 Comments

  1. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 27/07/2016
  2. mani mani 27/07/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 27/07/2016
  4. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 27/07/2016
  5. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 27/07/2016
  6. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 27/07/2016
  7. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 28/07/2016
  8. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 28/07/2016
  9. Writer Satyam Srivastava Writer Satyam Srivastava 28/07/2016

Leave a Reply