सुकून………..


कही मिलता बाज़ार में,
तो खरीद लेते हम भी पल दो पल के लिये !
ईमान धर्म सब कुछ बिकता है,
एक कमबख्त सुकून नहीं मिलता किसी दूकान पर !!
!
!
!
!
डी. के. निवातियाँ ____________@

14 Comments

  1. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 25/07/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/07/2016
  2. babucm C.m.sharma(babbu) 25/07/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/07/2016
  3. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 26/07/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/07/2016
  4. mani mani 26/07/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/07/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/07/2016
  5. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 26/07/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/07/2016
  6. sarvajit singh sarvajit singh 26/07/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/07/2016

Leave a Reply