“पत्थर के दिल “

बनाई थी पत्थर की मुरत ,
तुझे पूजने के लिए ,
भगवान इस संसार मे ।
पर क्या खता हुई हमसे,
जो बना दिये तुने पत्थरो के दिल,
हर एक इंसान मे । ।

“काजल सोनी “

10 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 24/07/2016
    • Kajalsoni 25/07/2016
  2. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 24/07/2016
    • Kajalsoni 25/07/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 24/07/2016
    • Kajalsoni 25/07/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 24/07/2016
    • Kajalsoni 25/07/2016
  5. mani mani 25/07/2016
    • Kajalsoni 25/07/2016

Leave a Reply