Dosti

दोस्तों ने क्या सिला दीया…बीन माँगे हमको दर्द है दिया.. दर्द सहलेंगे यह सोचते थे हम… आँसु पिलेंगे यह समजते थे हम… ना निकले सासु ना दर्द हुआ… हमें तो बस दोस्तों ने रुसवा किया

One Response

  1. babucm C.m.sharma(babbu) 18/07/2016

Leave a Reply