आह ।

मेरा सीना चीर के `आह`, जब चीखी शहर भर में,
उसने बेदर्दी से पूछा, `आख़िर मुआमला क्या है ?`

सीना = छाती;
आह = हाय;
बेदर्दी = कठोरता;
मुआमला = मामला;

मार्कण्ड दवे । दिनांकः १४ जून २०१६.

AAH

10 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 16/07/2016
  2. mani mani 16/07/2016
  3. C.M. Sharma babucm 16/07/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/07/2016

Leave a Reply