हर शख्स बेगाना

न जाने क्यूँ सुनसान, प्यार का मयखाना है
अपने ही शहर में हर शख्स लगे बेगाना है!!

पार्टियाँ भी घरों में होती है अकेले अकेले
लोग होटलों को जाते, जब होता खिलाना है!!

नुक्कड़ वहीँ लोग वहीँ पर हर कोई खामोश
चौराहों पर यारों के जमघट का दौर पुराना है!!

त्योहारों के रंग पड़े फीके यारों की तलाश में
होली का हुडदंग देखे गुजरा एक जमाना है!!

लाखों की भीड़ है यहाँ पर हर आदमी अकेला
कंधे नहीं मिलते जनाजा भी अकेले उठाना है!!

पडोसी की भी खबर मिलती है खबरनवीसों से
लोग कैद दीवारों में, किया सीमित ठिकाना है!!

“कुशक्षत्रप” बेबस है बदली बदली सी फिजा में
दिल का दर्द यूँही कागजों पर लिखते जाना है!!
!!!!
!!!!
सुरेन्द्र नाथ सिंह “कुशक्षत्रप”

25 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/07/2016
  2. Arun Kant Shukla Arun Kant Shukla 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/07/2016
  3. mani mani 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/07/2016
  4. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/07/2016
  5. सोनित 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/07/2016
  6. r.n.yadav 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/07/2016
  7. shrija kumari shrija kumari 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/07/2016
  8. sarvajit singh sarvajit singh 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 15/07/2016
      • kiran kapur gulati kiran kapur gulati 15/07/2016
        • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 15/07/2016
  9. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 15/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 15/07/2016
  10. Er Anand Sagar Pandey 04/08/2016

Leave a Reply