मोमीनों की असलियत ??

आतंकी राह चला जो भी उसको सबकी खैरात मिली
जो खेले खूनी खेल उसे क्या हूरो की सौगात मिली
दो चार देशप्रेमी मोमिन, बाकी आतंक समर्थक हैं
तंजील के घर ना गया कोई, बुरहान के घर बारात मिली

कवि देवेन्द्र प्रताप सिंह “आग”
9675426080
??????

Leave a Reply