खुदा प्यारा ज़माने को..मुझे बस बंदगी प्यारी…

तुम्हारी याद में हर पल हरिक लम्हा जिया हूँ मै…
इसी तरह बिता दी इस बशर ने जिन्दगी सारी…
न पूछो क्या मोहब्बत का हुआ मुझपे असर यारों…
खुदा प्यारा ज़माने को..मुझे बस बंदगी प्यारी…

-सोनित

7 Comments

  1. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 07/07/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 07/07/2016
  3. Meena Bhardwaj Meena bhardwaj 07/07/2016
  4. mani mani 07/07/2016
  5. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 07/07/2016
  6. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 07/07/2016

Leave a Reply