कवि महोदय-I……सी.एम. शर्मा (बब्बू)….

(सावधानी: मेरा अनुरोध है की इस रचना को पढ़ने से पहले मेरी रचना “कवि महोदय” पढ़ें….उस को पढ़े बिना इस को पढ़ेंगे तो आँखों में एलर्जी…पेट में ऐंठन की शिकायत हो सकती है…जिसका मैं जिम्मेवार नहीं हूँगा)

बड़ी मेहनत..मशक्त..शिद्दत से हमने कविता लिखी…
कोई पढता ही नहीं….
अपनी ही प्रशंसा करने में व्यस्त हैं सब….
मेरी कोई करता ही नहीं….
इतनी बेरुखी हमसे क्यूँ है हे कविजनो….
कि किसी को मैं जंचता ही नहीं….
क्यूँ बार बार मुझे ही बताना पड़े है कि मैं भी कवि हूँ…
अभी अभी एक ने कविता लिखी…
५ मिनट में १० जवाब लाजवाब के बिना वजह आ गए…
मुझे एक भी नहीं….
मुझे सब खबर है इसमें भी राजनीति हो रही है….
अपने अपने मतलब को ही लाइक हो रही है….
सब विरोधी खेमे का हाथ है….
डरते हैं मेरी रचनाओं से…..
इस लिए आपस में कानाफूसी करते हैं….
मेरे खिलाफ साजिश रचते रहते हैं….
सच तो ये है मेरी ही रचनाओं को तोडा मरोड़ा गया है….
कविता के तथ्यों से खिलवाड़ कर अपना नाम जोड़ा गया है….
सब पत्रकार…चैनल वाले उनका ही गुणगान कर रहे हैं…
मुझ से क्यूँ नहीं मिल रहे हैं…
मैं अपने ही अखबार…चैनल शुरू करूंगा…
खुद ही “अपनी कविता” लिखूंगा…खुद को ही सुनाऊंगा….
वाह वाह…बहुत खूब…लाजवाब…अप्रतिम जवाब…
खुद ही अलग अलग नामों से लिख कर छपवाऊँगा….
यूं चुटकी बजाते ही पॉपुलर हो जाऊँगा……
किसी की रचना गर आयी छपने तो उसका नाम काट…
अपना चिपकाऊंगा…..कॉपीराइट अपने नाम करवाऊंगा…..
यूं अपना ही सिक्का चलाऊंगा…..

\
/सी.एम. शर्मा (बब्बू)

18 Comments

    • C.M. Sharma babucm 05/07/2016
    • C.M. Sharma babucm 05/07/2016
    • C.M. Sharma babucm 05/07/2016
  1. mani mani 05/07/2016
    • C.M. Sharma babucm 05/07/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 05/07/2016
    • C.M. Sharma babucm 05/07/2016
  3. sarvajit singh sarvajit singh 05/07/2016
    • C.M. Sharma babucm 06/07/2016
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 05/07/2016
    • C.M. Sharma babucm 06/07/2016
  5. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 06/07/2016
    • C.M. Sharma babucm 06/07/2016
  6. Kajalsoni 17/09/2016
    • C.M. Sharma babucm 17/09/2016

Leave a Reply