सच्चा यार “गजल”

वह आया कब मेरे जीवन मे, मुझे खबर नही
उसे भूलने की दुआ करूँ तो दुआ मे असर नही

वो मेरी जिस्म जान मे यूँ …… समाय़ा है
उसकी तस्वीर हट जाये ऐसी मेरी नजर नही

अब तो उसकी बाहों मे ही सूकून मिलता है
यही सच है कि बिना उसके मेरा गुजर नही

जब से मेरी धड़कनों मे उसने बनाया है अपना घर
सासे भी रूक जाये तो बिछड़ने का डर नही

सच्चे यार की हसरत किसे नही होती यहाँ
मै भाग्यशाली हूँ अब बिन उसके सफर नही
!!!!!!!
!!!!!!!
सुरेन्द्र नाथ सिंह “कुशक्षत्रप”

11 Comments

  1. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 03/07/2016
  2. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 03/07/2016
  3. mani mani 03/07/2016
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 03/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 03/07/2016
  5. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 03/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 03/07/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 03/07/2016
  6. sarvajit singh sarvajit singh 03/07/2016
  7. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 03/07/2016

Leave a Reply to C.m.sharma(babbu) Cancel reply