गज़ल

शिकायत है नहीं मुझको तुम्हीं ने दिल दुखाया है
शरारत थी तेरी ऐसी कि तुम्हीं ने दिल चुराया है।

निगाह ए नाज के जादू हमें क्यों भ्रम में डाला
तेरे बालों के ये गेशू हमें क्यों शर्म में है लाया।

नहीं बदहोश में रहते बहुत अफशोश करते हैं
लडे़ंगे हम जमाने से ऐसा अब जोश भरते है।

खता बस मेरी इतनी है तुम्हीं ने दिल लुभाया है
पता कुछ भी नहीं मुझको तुम्हीं पे दिल लुटाया है।

मेरे जीवन के आॅगन में मेरे तकदीर बन जाओे
देरे दिल मंे तुम्हीं तुम हो मेरे तस्वीर बन जाओ।

हमें रूस्वा न तुम करना मेरे लफ्जे मुहब्बत का
हमें खसारा न देना तुम सिद्त ए सुहबत का।

मेरी जुस्तजू बस इतनी है बने रिस्ता ए उल्फत का
फकत वक्त ने हमें मारा जनूने शौक किस्मत का।

बी पी शर्मा बिन्दु

Writer Bindeshwar Prasad Sharma (Bindu)
D/O Birth 10.10.1963
Shivpuri jamuni chack Barh RS Patna (Bihar)
Pin Code 803214

4 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 29/06/2016
    • Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad Sharma (Bindu) 29/06/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 29/06/2016
    • Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad Sharma (Bindu) 29/06/2016

Leave a Reply