कोशिश – अनु महेश्वरी

कुछ पाने की चाह में,
अपने आज को न खोना|
अगर कुछ करना चाहे,
उसे कल पे न टालना|

कदम तू बढ़ाए जाना,
रास्ते में न घबराना|
मुश्किल आए अगर,
मंज़िल पे हो तेरी नज़र|

हाथ में तेरे है तकदीर,
जैसी चाहे बनाले तस्वीर|
कोशिश कभी बेकार नहीं जाती,
सफलता स्वरुप लौट के आती|

‘अनु महेश्वरी’
चेन्नई

4 Comments

    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/08/2016
  1. babucm babucm 22/08/2016
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/08/2016

Leave a Reply