बर्बादी का अंजाम लिख दिया…

किसी ने जख्म तो किसी ने
आसुओं का ज़ाम लिख दिया,
किसी ने रुसवाई तो किसी ने
दर्द का पैगाम लिख दिया,
राह-ए-उल्फ़त मे मोहब्बत को
नजाने कितने नाम दिए दीवानों ने,
किसी ने एहसास-ए-जन्नत तो
किसी ने बर्बादी का अंजाम लिख दिया…

…इंदर भोले नाथ…
http://merealfaazinder.blogspot.in/

4 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/06/2016
  2. babucm babucm 25/06/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 25/06/2016

Leave a Reply