बुरा वक़्त ।

बुरे वक़्त से गुज़रना, इतना आसाँ नहीं है,
उकसा के देख एक दिन, भीतर के शैतान को..!

गुज़रना = पसार होना;
उकसाना = उत्तेजित करना;
शैतान = राक्षस;

मार्कण्ड दवे । दिनांकः २२ जून २०१६.

BURA WAQT

7 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 25/06/2016
  2. mani mani 25/06/2016
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/06/2016
  4. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 25/06/2016

Leave a Reply