खुदा

होगा नही इमां से जुदा रहमो करम करता रहेगा उसपे खुदा।
नेकीयों से़ दामन भरा रहे दुनिया वाले सदा रहेगे उसपे फिदा।.
अपनापराया उंचनीच का भेद नही प्यारी लगती रब को ये अदा।
लाख बुरा सोचे शैतान बाल न बांका उसका होने देता है खुदा।. (आशफाक खोपेकर)

3 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/06/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 25/06/2016
  3. babucm babucm 25/06/2016

Leave a Reply