बारिश फ़र्क नही करती

बारिश फ़र्क नही करती
हर जर्रा जर्रा भीगता है
मनभावन उपवन भीगते हैं
गलियों का कचरा भीगता है

प्रेम मे फ़र्क नही होता

मैं सोचता हूं अम्बर को कभी
धरती से प्रेम हुआ होगा
-सोनित
www.sonitbopche.blogspot.com

6 Comments

  1. अरुण कुमार तिवारी arun kumar tiwari 22/06/2016
  2. babucm babucm 22/06/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 22/06/2016
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 22/06/2016
  5. ALKA प्रियंका 'अलका' 22/06/2016

Leave a Reply