चमकता चेहरा

चमकता चेहरा

चांद की चांदनी में
चमकता हुआ चेहरा
आंखें काली गोल-गोल
रंग दूध मिला सुनहरा ।
काले चमकते सुन्दर बाल
क्रीम से पुते हुए लाल गाल
आंखों से मद यूं छलकता
जैसे हो कोई झील गहरा ।
आंखें काली गोल-गोल
रंग दूध मिला सुनहरा ।
नव यौवन की चादर ओढ
निकल पड़ी नव रस्ते पर
कंपन थिरकती हर अंग से
जैसे बिखरा हो नया सवेरा ।
आंखें काली गोल-गोल
रंग दूध मिला सुनहरा ।
मेघों जैसा कोमल स्पर्श
मखन जैसा तीखा रस
हर अंग कोमल सुगंधमय
जैसे पौधा हरा-भरा ।
आंखें काली गोल-गोल
रंग दूध मिला सुनहरा ।

One Response

  1. Dr Chhote Lal Singh Dr C L Singh 20/07/2016

Leave a Reply