वजूद

“ना खोया है वजूद हमने
अभी तो इम्तिहान बाकि है
जीते है चंग दिलों को तो क्या
अभी तो सारा जहाँ बाकि है ||”

3 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 17/06/2016
  2. babucm babucm 17/06/2016
  3. omendra.shukla omendra.shukla 17/06/2016

Leave a Reply