माँ ये तेरी कहानी:अरुण कुमार तिवारी

‘ माँ ‘ तुझे समर्पित…
………………………..

भले तू नहीं माँ ,ये तेरी कहानी,
वो सोने के रंग की ,तु परियों की रानी|

वो ममता के आँचल का, फटता सा कोना,
वो जलते से गलते ,बिछौनों में सोना।
वो खुशबू लुटाती, लगे घी की रोटी,
उमर बढ़ चली हर , हुई बात छोटी।
न छोटी हुई तू ,ना तेरी निशानी।

भले तू नहीं माँ ,ये तेरी कहानी।
वो सोने के रंग की, तु परियों की रानी।

वो ममता की चोटी, वो टीका वो काजल,
दो नयनो के नभ् से ,बरसते वो बादल।
वो थपकी की थापें ,वो माथे का चुम्बन,
उनींदे महल में वो ,लोरी की गुंजन।
तू ममता की गागर में ,चन्दन का पानी।

भले तू नहीं माँ ये तेरी कहानी,
वो सोने के रंग की, तु परियों की रानी।

तेरा श्याम रूठे, यशोदा मनाती,
ये जीवन जो रौशन ,जली तू ही बाती।
अनेको सितारे भले नभ् में चमके,
तेरी चांदनी स्निग्ध, शीतल सीे दमके।
ये हर साँस तेरी, तेरी ज़िन्दगानी,

भले तू नहीं माँ, ये तेरी कहानी,
वो सोने के रंग की ,तु परियों की रानी।

अगर फिर जनम हो ,अगर हो ये फेरा,
बने तू यशोदा ,मैं कान्हा हो तेरा|
तू दर्पण बने मैं ,छवि बन रिझाऊँ,
अनेको जनम ,नेह तेरा ही पाऊँ।
तेरी नव्य काया ,तू मूरत पुरानी,

भले तू नहीं माँ ,ये तेरी कहानी,
वो सोने के रंग की ,तु परियों की रानी।

-‘अरुण’
———————0——————-

13 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 30/07/2016
    • अरुण कुमार तिवारी अरुण कुमार तिवारी 31/07/2016
  2. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 30/07/2016
    • अरुण कुमार तिवारी अरुण कुमार तिवारी 31/07/2016
  3. C.M. Sharma C.m.sharma(babbu) 31/07/2016
    • अरुण कुमार तिवारी अरुण कुमार तिवारी 31/07/2016
  4. sarvajit singh sarvajit singh 31/07/2016
    • अरुण कुमार तिवारी अरुण कुमार तिवारी 31/07/2016
  5. mani mani 31/07/2016
    • अरुण कुमार तिवारी अरुण कुमार तिवारी 31/07/2016
  6. Kajalsoni 31/07/2016
    • अरुण कुमार तिवारी अरुण कुमार तिवारी 31/07/2016
  7. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 31/07/2016

Leave a Reply