‘हां’ और ‘ना’ – अनु महेश्वरी

हर बात में ‘हां’ न बोल,
हर बात में ‘ना’ न बोल ।
सबको अपना दोस्त न बनाओ,
किसीको अपना दुश्मन न बनाओ,
गुस्से में कुछ न बोलो,
ख़ुशी में कुछ वादा न करो,
हाथ अगर उठाते हो,
तो किसी के आँशु पोछने के काम आये,
नजर अगर मिलाते हो,
तो किसीके दर्द मिटाने में काम आये।

by : Anu Maheshwari (chennai)

5 Comments

  1. babucm C.msharma(babbu) 12/06/2016
  2. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 13/06/2016
  3. Paramanand Maheshwari 16/06/2016
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 30/11/2016

Leave a Reply