मां प्रकृति

मां प्रकृति

आंखों में भरकर अश्रुधार
क्यों कर रही हो मुझे विदा,
जब माता कहा है तुम्हें तो
आऊंगा फिर कभी यहां ।
ऐसा मुझे दो मां आशीर्वाद
आंचल की छांव सदा रहे
मैं रहूं हे मां प्रकृति जहां
जाने के बाद खुश रहना सदा ।
जब माता कहा है तुम्हें तो
आऊंगा फि र कभी यहां ।
तुम्हारी हंसी हरियाली को
रखूंगा सदा ही सीने में
इसलिए न कभी बुरा मानना
तुम्हारा हूं रहूंगा तुम्हारा सदा ।
जब माता कहा है तुम्हें तो
आऊंगा फिर कभी यहां ।

Leave a Reply