हमारा “गम”

हमारे चाहने वाले

जब एक एक करके

हमारे बुरे वक्त मे

साथ छोड़ते चले गये

तब भी हम

कभी विचलित न हुए

कभी अकेले न हुए

हमारा सदाबहार साथी

“गम” इस दौर मे भी

सदा हमारे साथ रहा

2 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/05/2016
  2. C.M. Sharma babucm 27/05/2016

Leave a Reply