दौलत का नशा

यूँ दौलत के नशे में चूर इतना न होइए,
मारकर ठोकर किसी के अरमानों को न सोइए ।
नींद उड़ जाएगी आपकी आँखों से सपनो के संग,
किसी की आह आपकी ऐयाशियों से लड़ेगी जंग।

विजय कुमार सिंह

Leave a Reply