नेता जी

सुप्रीम कोर्ट द्वारा NEET 2 कराने के लिए दिए गए ऐतिहासिक फैसले के विरोध में सभी भ्रष्ट नेता लोग अध्यादेश लाने की तैयारी में हैं ताकि वो सीटेँ उनके चहेतो को दी जा सकें और एक बार फिर ‘व्यापम’ दोहराया जा सके
इसी विषय पर मेरी अगली कविता आप लोगो के लिए———
|
|
|

कदम कदम पर चोर उचक्के
हर पग पर धोखेबाजी
सरेआम ईमान बेचने
हुए इकट्ठे नेता जी;
हम बच्चों की गलती क्या है
क्या हमने तुमसे छीना
क्यों प्रतिभा का गला घोटने निकले हो तुम नेता जी;
जब जब हमने कदम बढ़ाया
तब तब धोखा खाया है,
चौराहों पर बिकती सीटें और ‘व्यापम’ को पाया है
क्यों मेहनत की मिट्टी करने तुले पड़े हो नेता जी;
है नहीं कोई उम्मीद हमें,
पर फिर भी एक विनती कर दूँ
हो शेष बचा चुटकी भर भी ईमान तुम्हारे अंदर गर
तो इस बार बख़्श दो नेता जी
इस बार बख़्श दो नेता जी
-रणदीप चौधरी ‘भरतपुरिया’
Whatsapp no.-7742944898

2 Comments

  1. mani mani786inder 17/05/2016
    • रणदीप चौधरी 'भरतपुरिया' Randeep Choudhary 17/05/2016

Leave a Reply