जरा सोचिये…..

नई नवेली दुल्हन से सास बोली
बहु तैयार हो जाओ मंदिर चलना है।
जहाँ माता के चरणों में होंगा पूजन
और हमारी तरफ से चुनरी चढ़ना है।।

बहु ने खुद से प्रश्न किया—
जीवनदायिनी है एक मेरी माँ
जिसके दूध का कर्ज चुकाना है।
एक सासु माँ है जिनकी छाव ही
अब से मेरा ठिकाना है।।

एक हमारी धरती माँ है जिससे
उत्त्पन्न अन्न जल सब खाते हैं।
यह कैसे और कौन सी माता है
जिसे पूजने लोग मंदिर में जाते हैं।।

भर मन में जिज्ञासा वह मंदिर आई
जहाँ हो रहा था कोई अनुष्ठान।
गाय का दूध पीते बछड़े की एक मूर्ति
पर बहूँ का झट से गया ध्यान।।

बहूँ बोली सासु माँ से, चलिए आज
इस गाय का दूध निकालते है।
सास ने अपने सिर पर हाथ पिटा
और बोली-अरे पगली कही
पत्थर भी दूध देते है।।

वहाँ एक शेर की मूर्ति थी
बहूँ बोली-माँ आगे मत जाईये
वर्ना शेर खा जायेगा।
सास बुदबुदाई-
पत्थर का शेर किसी को नहीं खाता
यह बहूँ को कौन समझाएगा।।

मेरे बेटे का किस्मत फुट गया
जो यह पागल उसके गले पड़ी।
निर्जीव सजीव का ज्ञान नहीं इसको
यह हम लोगों के मत्थे चढ़ी।।

अंदर एक और शैल मूर्ति थी
कपड़ो और फूलों से सजी हुई।
नारियल चुनरी लोग चढ़ा रहे थे
मूर्ति थी पूरी ढकी हुई।।

सास बोलीं-बहूँ यही माता हैं
इनसे जो मागना है मांग लो।
किसी की मन्नत नहीं रहती अधूरी
अब से तुम जान लो।।

बहूँ ने कहा-सासु माँ
जब पत्थर की गाय दूध नहीं दे सकती है।
और शेर खा नहीं सकता
फिर पत्थर की मूर्ति हमें कैसे
कुछ दे सकती है।।
अगर मुझे कोई दे सकता है तो
माँ, वह हैं खुद आप।

माँ जरा सोचिये-
लोग करोडों का चढ़ावा इन
मूर्तियों पर चढाते है।
और करोड़ो गरीब असहाय सडको
पर ही भूखे ही सो जाते हैं।।
लोग सैकड़ो टन दूध पत्थर की
मुर्तियो पर गिराते है।
और न जाने कितने दूधमुंहे बिना
दूध पिए ही रह जाते है।।

अगर मुर्तियो से यूँही मागते रहे
इनके उपर दूध गिराते रहे।
करोड़ो का चढ़ावा चढाते रहे।।
तो हर तरफ पत्थर की मूर्तियाँ होंगी
कबीर दास ने भी फ़रमाया है
पत्थर पूजे हरि मिले, मै पूजूँ पहाण।
ताके यह चाकि भली, पिस खाए संसार।।
गरीबों की सेवा और माँ बाप की
पूजा ही देती मेवा है।
गांठ बाधकर रख लीजिये
मानव सेवा की सेवा माधव सेवा है।।

✍सुरेन्द्र नाथ सिंह” कुशक्षत्रप”✍

20 Comments

  1. babucm babucm 16/05/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016
  2. Kajalsoni 16/05/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016
  3. Rajeev Gupta Rajeev Gupta 16/05/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016
      • Rajeev Gupta Rajeev Gupta 16/05/2016
        • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 16/05/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016
  5. Rajeev Gupta Rajeev Gupta 16/05/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016
  6. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 16/05/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016
  7. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 16/05/2016
  8. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 16/05/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016
      • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016
  9. sarvajit singh sarvajit singh 16/05/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 16/05/2016

Leave a Reply