फर्क है……

वादे भी वही, इरादे भी वही,
फर्क है तो सिर्फ चेहरों का,
आरोप भी वही, प्रत्यारोप भी वही,
फर्क है तो सिर्फ चेहरों का,
अमीरी भी वही, गरीबी भी वही,
फर्क है तो सिर्फ चेहरों का,
भ्रस्टाचार भी वही, अन्धविश्वाश भी वही,
फर्क है तो सिर्फ चेहरों का,
सोच मत बस चल दे “मनी”
कुछ कर गुजरने की चाहत लिए,
वर्ना हालत हर बार वही होंगे,
अगर फर्क होगा तो सिर्फ चेहरों का |

7 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 13/05/2016
    • mani mani786inder 13/05/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 13/05/2016
  3. Kajalsoni 13/05/2016
    • mani mani786inder 14/05/2016
  4. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 14/05/2016
    • mani mani 26/11/2016

Leave a Reply