Life is having different faces

Life is having different faces.

“एक बार मै अपने अतीत से,जाकर मिल आऊँ,
जो ख्वाब अधूरे छूट गए, उनको पूरा कर आऊँ।
जिंदगी की रफ़्तार कुछ ऐसी थी,
कुछ आगे निकल गए,कुछ पीछे छूट गए,
कुछ थे खुश हमसे,तो कुछ रूठ गए,
एक बार मै जाकर फिर से,अपनों को मना आऊँ।
जो ख्वाब अधूरे छूट गए, उनको पूरा कर आऊँ।
बहुत थे सपने देखे हमने,
कुछ हुए पूरे तो कुछ टूट गए।
कुछ ने दी अरमानो को नई दिशा,कुछ यूँ ही बिखर गए,
एक बार मै जाकर सपनों को, फिर से हकीकत में बदल आऊँ।
जो ख्वाब अधूरे छूट गए, उनको पूरा कर आऊँ।
जीवन की पहेली ऐसी थी,
कुछ सुलझ गयी कुछ उलझ गयी।
कुछ ने दी मुस्कराहट होंठों पर, कुछ आँखों के आँसू बन ही गए,
एक बार मै जाकर पहेली को, फिर से सुलझाकर आ जाऊं।
जो ख्वाब अधूरे छूट गए, उनको पूरा कर आऊँ।
रीति हमारी कुछ ऐसी थी,
जिसमे जाकर हम बंध ही गये।
कुछ ने खुशियां दी हमको, कुछ दिल की पीड़ा बन ही गए
एक बार मैं जाकर फिर से, वो रीति बदल आऊँ।
जो ख्वाब अधूरे छूट गए, उनको पूरा कर आऊँ।”

By:Dr Swati Gupta

6 Comments

  1. सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 11/05/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 13/05/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/05/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 13/05/2016
  3. babucm babucm 12/05/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 13/05/2016

Leave a Reply