तुम ही तुम हो….

कितना आसान हो गया……
……अपने को खोजना….
रोज़ आईने में…….
……मैं तुमको देखता हूँ…

\
/सी.एम. शर्मा (बब्बू)

8 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 11/05/2016
    • C.M. Sharma babucm 12/05/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 11/05/2016
    • सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप सुरेन्द्र नाथ सिंह कुशक्षत्रप 11/05/2016
      • C.M. Sharma babucm 12/05/2016
    • C.M. Sharma babucm 12/05/2016
  3. आभा आभा 12/05/2016
    • C.M. Sharma babucm 12/05/2016

Leave a Reply